सारा जहां से अच्छा…………

छोटे-छोटे मसीहा सब हों
सबकी रगो में जो हो संस्कार
दुनिया में अच्छाई का
अब हर कोई हो पालनहार,
स्पर्धा के भौतिक युग में
मानव, मानव बन के रहे
अहिंसा फैले करूणा महके
हर दिल में धड़कन बन धड़के,
हर तरफ चहकता जीवन हो
हर एक के पालन-पोषण मे हो
मूनस्टार शिक्षण का मजबूत आधार